SP-BSP कार्यकर्ताओं को भ्रमित करने के लिए अफवाह फैला रही हैं भाजपा-कांग्रेसः अखिलेश यादव

Written by Sabrangindia Staff | Published on: May 11, 2019
समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा और कांग्रेस दोनों पार्टियां एक जैसी हैं और दोनों ही सपा-बसपा कार्यकर्ताओं में कंफ्यूजन पैदा करने के लिए अफवाह फैलाती हैं। उन्होंने  दावा किया कि भाजपा जाति-आधारित राजनीति करती रही है। उसकी सरकार झूठ और नफरत पर आधारित थी।




अखिलेश यादव ने कहा, 'प्रतापगढ़ की रैली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि समाजवादी पार्टी बसपा के साथ नहीं है बल्कि दूसरे दलों की मदद कर रही है। अब कांग्रेस भी कल जहां चुनाव हो रहा है, वहां इसी तरह की अफवाह फैला रही है। दोनों को ही जनता ने अलग कर दिया है, इसलिए जान-बूझकर ये दल कंफ्यूजन फैलाना चाहते हैं।'

अखिलेश यादव ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा दूसरों को उन चीजों के लिए दोषी ठहराते हैं जो वे करते हैं या करना चाहते हैं। भाजपा जाति आधारित राजनीति और विभिन्न जातियों तथा धर्मों के बीच नफरत फैलाने की राजनीति कर रही है। उनकी सरकार झूठ और नफरत पर आधारित है। लोगों ने नफरत पर बनी सरकार को अब उखाड़ फेंकने का फैसला किया है। उन्होंने कहा, 'कांग्रेस और भाजपा अन्याय करने में एक ही हैं। दोनों ही ने हमारे खिलाफ फर्जी मुकदमे दायर किए और लोगों में अफवाह फैलाने का षड़यंत्र कर रही हैं।'

चार मई को प्रतापगढ़ में एक रैली में प्रधान मंत्री मोदी ने कांग्रेस पर तीखा हमला किया और इसे 'वोट कटर' पार्टी कहा। उन्होंने कांग्रेस और सपा पर अपने व्यक्तिगत लाभ के लिए मायावती को धोखा देने का भी आरोप लगाया। कांग्रेस के नेताओं  ने रैलियों के दौरान सपा के उन लोगों के साथ मंच साझा कर रहे हैं और मायावती को इतने चालाक तरीके से धोखा दिया है कि वह उसे समझने में भी असमर्थ है।

उन्होंने कहा कि पहले दौर के मतदान से पहले प्रधानमंत्री पद के लिए दावा किया जा रहा था, अब वोट कटर होने की बात करते हैं। उन्होंने कहा, इन लोगों ने सिर्फ खुद को फायदा पहुंचाने के लिए गठबंधन किया। उन्होंने मायावती को प्रधानमंत्री बनने के सपने दिखा कर फायदा उठाया। लेकिन इसके बजाय कांग्रेस और सपा ने उन्हें अंधेरे में रखा।