नोटबंदी से अर्थव्यवस्था चौपट, थोक महंगाई दर हुई दोगुनी

Written by Sabrangindia Staff | Published on: September 14, 2017
नोटबंदी के बाद भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए बुरे संकेत सामने आने लगे हैं। थोक मूल्य सूचकांक पर आधारित महंगाई दर इस साल अगस्त महीने में लगभग दोगुनी हो गई जो 3.24 फीसदी रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, इसी साल जुलाई में थोक महंगाई दर 1.88 फीसदी थी। वहीं अगस्त 2016 में यह दर 1.09 फीसदी थी। रिपोर्ट के मुताबिक अगस्त 2017 की थोक महंगाई दर 3.24 फीसदी रही है जबकि जुलाई में यह जुलाई में 1.88 फीसदी थी।

Inflation
Image: Indian Express

इस वित्त वर्ष की बिल्ट इन महंगाई दर 1.41 फीसदी रही है जबकि ठीक इसी अवधि में पिछले साल ये 3.25 फीसदी थी। खाद्य महंगाई दर की बात करें तो इसमें वृद्धि हुई और ये बढ़कर 5.75 फीसदी रही जबकि जुलाई 2017 में यह 2.15 फीसदी रही थी। वार्षिक आधार पर प्याज की कीमतें बढ़कर 88.46 फीसदी रही। वहीं आलू की कीमत नकारात्मक 43.82 फीसदी रही है। इस वर्ष अगस्त महीने में सब्जियों की कीमतों में वृद्धि होकर 44.91 फीसदी रही है। वहीं इसी अवधि में पिछले साल यह नकारात्मक 7.75 फीसदी रही थी।

प्रोटीन आधारित खाद्य सामग्रियां जैसे अंडे, मांस और मछली मंहगी हो गई हैं। यह बढ़कर 3.93 फीसदी हो गई हैं। ईंधन और बिजली की कीमत में भी वृद्धि दर्ज की गई जो 9.99 हो गई है।

आंकड़ों के अनुसार अगस्त महीने के दौरान रोजमर्रा इस्तेमाल किए जाने वाले फल और सब्जियों की महंगाई दर बढ़कर क्रमश: 5.29 प्रतिशत तथा 6.16 प्रतिशत हो गई। इन चीजों की दर जुलाई में क्रमश: 2.83 प्रतिशत तथा शून्य से 3.57 प्रतिशत नीचे थी।
 

बाकी ख़बरें