गृह मंत्रालय का चौंकाने वाला खुलासा, पढ़िए- मोदी सरकार में आतंकी घटनाएं कितनी बढ़ी

Written by Sabrangindia Staff | Published on: October 11, 2017
आतंकवादियों को खत्म करने को लेकर बड़े-बड़े वादे करने वाली केंद्र की मोदी सरकार को जोरदार झटका लग सकता है। एक आरटीआई के जवाब में गृह मंत्रालय ने बेहद चौंकाने वाला खुलासा किया है। मंत्रालय ने बताया कि मोदी सरकार के दौरान कश्मीर में आतंकी घटनाओं में वृद्धि हुई है।

Army
Representation Image

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आरटीआई के जवाब में गृह मंत्रालय ने खुलासा किया है कि मोदी की सरकार के तीन साल के कार्यकाल में जम्मू-कश्मीर में 812 आतंकी घटनाएं हुई हैं, जबकि मनमोहन सिंह के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार के आखिरी तीन साल के कार्यकाल में कुल 705 आतंकी घटनाएं हुई थीं।

आरटीआई के जवाब में ये बात भी सामने आई है कि मोदी सरकार के दौरान हुए इन 812 घटनाओं में करीब 183 भारतीय जवान शहीद हुए हैं और 62 नागरिकों की मौत हुई। वहीं मनमोहन सिंह के आखिरी तीन साल के कार्यकाल में 105 जवान शहीद हुए थे जबकि 59 नागरिकों की मौत हुई थी।

रिपोर्ट के मुताबिक नोएडा निवासी आरटीआई कार्यकर्ता रंजन तोमर ने गृह मंत्रालय से आतंकी घटनाओं के संबंध में जानकारी मांगी थी।

तोमर के सवाल
तोमर ने मंत्रालय से चार सवाल पूछे थे। तोमर ने पूछा था किः
1. मोदी सरकार के अब तक के तीन साल के कार्यकाल में कितनी आतंकी घटनाएं हुईं।
2. मनमोहन सिंह की सरकार के आखिरी तीन साल के कार्यकाल में कितनी घटनाएं हुई थीं।दोनों ही समय में कितने नागरिकों की मौत हुई और कितने जवान शहीद हुए।
3. इन आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए मोदी सरकार के तीन साल के कार्यकाल में गृह मंत्रालय ने कितनी धनराशि जारी की थी।
4. मनमोहन सिंह के आखिरी तीन साल के कार्यकाल में कितनी धनराशि दी गई थी।

तीसरे और चौथे सवालों के जवाब में गृह मंत्रालय की तरफ से जानकारी दी गई कि मोदी सरकार के कार्यकाल में 1,890 करोड़ रुपए जारी किए गए तो वहीं मनमोहन सिंह की सरकार के आखिरी तीन साल के कार्यकाल के दौरान आतंकी गतिविधियों को रोकने के लिए 850 करोड़ की धनराशि दी गई थी।
 

बाकी ख़बरें