कठुआ- उन्नाव मामले पर पूर्व नौकरशाहों ने लिखी PM को चिट्ठी, कहा- पीड़ित परिवारों से माफी मांगें मोदी

Written by Sabrangindia Staff | Published on: April 16, 2018
नई दिल्ली। कठुआ और उन्नाव गैंगरेप केस को लेकर देश की जनता में उबाल देखने को मिल रहा है। सड़क से लेकर सोशल मीडिया तक लोगों ने गैंगरेप को लेकर नाराजगी जताई है। कई दिनों तक मामला सुर्खियों में रहने के बाद प्रधामंत्री नरेंद्र मोदी ने अंबेडकर जयंती की पूर्व संध्या पर चुप्पी तोड़ी थी। टि्वटर पर इस बाबत प्रधानमंत्री कार्यालय के हैंडल से लिखा गया था, “जो घटनाएं हमने बीते दिनों देखीं, वे सामाजिक न्याय की अवधारणा को चुनौती देती हैं। बीते 2 दिनों में जो घटनाएं चर्चा में हैं, वे निश्चित तौर पर किसी भी सभ्य समाज के लिए शर्मनाक हैं। एक समाज के रूप में, दूसरा देश के रूप में हम सब इसके लिए शर्मिंदा हैं।”

इस ट्वीट के बाद पूर्व नौकरशाहों ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुली चिट्ठी लिखी है। रविवार (15 अप्रैल) को 49 सेवानिवृत्त सिविल सेवा अधिकारियों के समूह ने इसमें देश की आतंकित करने वाली स्थिति के लिए सरकार को जिम्मेदार ठहराया है। चिट्ठी में सख्त लहजे में सरकार की आलोचना करते हुए कहा गया कि यह हमारा सबसे अंधकारमय दौर है और केंद्र सरकार व राजनीतिक पार्टियां इससे निपटने में विफल साबित हुई हैं।

चिट्ठी में कहा गया कि नागरिक सेवाओं से जुड़े युवा साथी भी लगता है कि अपनी जिम्मेदारियां पूरी करने में विफल साबित हुए हैं। पूर्व नौकरशाहों ने इसी के साथ पीएम से अपील की है कि वह कठुआ और उन्नाव में पीड़ित परिवारों से माफी मांगें, फास्ट ट्रैक जांच कराएं और इन मामलों को लेकर सभी दलों की एक बैठक बुलाएं।

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के कठुआ और उत्तर प्रदेश के उन्नाव में गैंगरेप के दो मामलों ने देश को दहला दिया है। यूपी में लगभग हफ्ते भर पहले एक महिला ने सीएम योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर खुदकुशी का प्रयास किया था। आरोप था कि बीजेपी के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर ने उससे रेप किया। मामले पर भारी विरोध और गहमा-गहमी के बाद मामला सीबीआई को सौंपा गया, जिसके बाद आरोपी विधायक गिरफ्तार किया गया।

बाकी ख़बरें