राजस्थान के उच्च शिक्षा की खुली पोलः पेड़ के नीचे पढ़ने को मजबूर छात्र

Written by Sabrangindia Staff | Published on: October 14, 2017
देश में उच्च शिक्षा की क्या हालत है इसका अंदाजा राजस्थान के जयनारायण विश्वविद्यालय की व्यवस्था से लगाया जा सकता है। यहां मनोविज्ञान विषय के स्नातक के छात्रों के लिए कोई क्लास नहीं है। वे पेड़ के नीचे अपनी पढ़ाई कर रहे हैं और प्रोफेसर उन्हें क्लास दे रहे हैं। इतना ही नहीं जब छात्रों ने इस तरह पेड़ के नीचे पढ़ाई करने का विरोध किया तो उन्हें पास के एक गैरेज में विश्वविद्यालय प्रशासन की तरफ से जगह दी गई।

School Under Tree
Representation Image

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जोधपुर स्थित जयनारायण विश्वविद्यालय में मनोविज्ञान विषय के स्नातक के छात्रों को प्रोफेसर पेड़ के नीचे पढ़ा रहे हैं। रिपोर्ट के मुताबिक मनोविज्ञान विभाग की प्रयोगशाला को विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रसंघ कार्यालय के लिए आवंटित कर दिया। प्रशासन के दबाव में मनोविज्ञान विभाग के अध्यक्ष प्रोफेसर एलएन बुनकर प्रयोगशाला की चाबी संबंधित अधिकारियों को सौंप दी जिससे छात्रों को क्लास के लिए परेशानी होने लगी। छात्रों को अब अपनी पढ़ाई के लिए पेड़ के छाए के अलावा कोई दूसरा जगह नहीं बचा था।

मनोविज्ञान विभाग के एचओडी प्रोफेसर एलएन बुलकर का कहना है कि विश्वविद्याल प्रशासन ने यह कहकर प्रयोगशाला को छात्रसंघ को आवंटित कर दिया कि यहां कक्षा नहीं लगती है। कर्मचारियों ने कुलपति के आदेश का हवाला देकर चाबी ले ली।

रिपोर्ट के अनुसार विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर आरपी सिंह ने इसी सप्ताह प्रयोगशाला छात्रसंघ कार्यालय के लिए आवंटित कर दी। कर्मचारियों ने वहां ताला बंद कर दिया। इसके बाद प्रोफेसर क्लास पेड़ के नीचे ले रहे हैं। छात्र तो पेड़ के नीचे किसी तरह पढ़ाई कर रहे हैं लेकिन उनका प्रैक्टिकल नहीं हो पा रहा है जिससे उन्हें काफी परेशानी हो रही है। 

बाकी ख़बरें